नर कंकाल

नर कंकाल!जी हाँ, नर कंकाल।एक नहीं, तीन-तीन नर-कंकाल !सभी मजदूरों के चेहरों पर हवाइयाँ उड़ रही थीं। सभी

Read More »

प्रेम

आधीच्या काळातही प्रेम होत असे पण प्रेम विवाह फारसे होत नसत. समाज, घरच्यांच्या आदरयुक्त भितीने सहसा कुणी अशी

Read More »

दिखावा

विनोद कुमार जैसे ही दुकान में घुसे दुकान के मालिक बृजमोहन ने उन्हें आदर से बिठाया और उनके

Read More »

कुंडली में राजयोग

कुंडली में राजयोग ज्योतिष शास्त्र को भूत और भविष्य जानने का बेहद महत्वपूर्ण जरिया माना गया है। कुंडली

Read More »

शनि जयंती

शनि जयंती शनिश्चरी अमावस्‍या, सूर्यदेव और देवी छाया के पुत्र भगवान शनि के अवतरण दिवस के रूप में

Read More »

सूर्याष्टक स्तोत्र

सूर्याष्टक स्तोत्र आदि देव: नमस्तुभ्यम प्रसीद मम भास्कर। दिवाकर नमस्तुभ्यम प्रभाकर नमोअस्तु ते ॥   सप्त अश्व रथम

Read More »

दुर्योंग काल

दुर्योंग काल इस वर्ष आषाढ़ मास का कृष्ण पक्ष केवल 13 दिन का, ऐसा संयोग द्वापर युग के

Read More »

गुड़हल की चाय

गुड़हल की चाय गुड़हल के चाय का सेवन ….    नाम की एक प्रजाति में एंटी बैक्टीरियल, एंटीफंगल

Read More »

ग्रह रहस्यम

ग्रह रहस्यम बहुत सी कुंडलियों के अध्यन मैं यह सामने आया है की कोई एक ग्रह फिल्म के

Read More »

नौतपा और कृषि

नौतपा और कृषि ज्योतिष कालगणना के अनुसार जब तप्तग्रह सूर्य, शीतग्रह चन्द्रमा के रोहिणी नक्षत्र में अर्थात् वृष

Read More »

कालजयी

कालजयी मैंने वैप के साथ साझा किए गए अनगिनत अविस्मरणीय पलों को अपने दिल में संजोकर रखा है।

Read More »

सूर्य मुख

सूर्य मुख हमारे मन में किसी बात को लेकर बहुत कुछ बना रहता है। इसका कोई विशेष कारण

Read More »

भाई का महत्व

भाई का महत्व हर दिन एक ही तरह की दिनचर्या घसीटने से जिंदगी उबाऊ हो जाती है। अगर

Read More »

चरक संहिता प्रथम अध्याय – ०६७:– (परलोकैषणा – पुनर्जन्म से कर्म)

चरक संहिता प्रथम अध्याय – ०६७:– (परलोकैषणा – पुनर्जन्म से कर्म) युक्तिश्रचैषा-पड़धातुसमुदायाद् गर्भजन्म, कर्तृकरणसंयोगात् क्रिया, कृतस्य कर्मणः फलं

Read More »

तीन परीक्षण

तीन परीक्षण एक बार चाणक्य का एक परिचित उनसे मिलने आया और बोला-क्या तुम जानते हो कि मैंने

Read More »

महर्षि पाराशर

महर्षि पाराशर महर्षि पाराशर शक्ति मुनि के पुत्र एवम  ब्रह्म्रिशी वशिस्ठ के पौत्र थे. आपकी माता का नाम

Read More »

प्रतीक्षा

प्रतीक्षा दिसंबर माह की तीस तारीख़ की बेहद ठंडी रात. डेढ़ बज रहे थे. समय काटना बहुत ही

Read More »

ईश्वर कहाँ है?

ईश्वर कहाँ है? मां के गर्भ में रहने के चार महीने बाद लोगों की उंगलियों पर रेखाएं बननी

Read More »

क्षमा

क्षमा एक सेठ जी ने अपने छोटे भाई को तीन लाख रूपये व्यापार के लिये दिये। उसका व्यापार

Read More »

प्रेरक प्रसंग

प्रेरक प्रसंग एक मछली तालाब में अपने परिवार के साथ रहती थी, तालाब में पानी कभी सूख भी

Read More »

बरगद एक लगाइये

बरगद एक लगाइये बरगद एक लगाइये, पीपल रोपें पाँच। घर घर नीम लगाइये,यही पुरातन साँच।।   यही पुरातन

Read More »

न्याय

न्याय सिपाही ने कहा “अंदर जाओ”, तो अशोक एक पल के लिए दरवाजे पर ठिठक गया। आज उसका

Read More »

श्री नृसिंह नवरात्रि

श्री नृसिंह नवरात्रि दशावतारों में नरसिंह भगवान विष्णु के चौथे अवतार हैं। नृसिंह की नवरात्रि वैशाख शुद्ध षष्ठी

Read More »

द्वादशी व्रत

द्वादशी व्रत ऐसा पुण्यफल है विष्णु मंदिर में घी के दीपक जलाने का.. . सतयुग की बात है.

Read More »

नारी का आभूषण

नारी का आभूषण एकबार बौद्धभिक्षु उपगुप्त से एक नर्तकी ने पूछा कि नारी का आभूषण क्या है? भिक्षु

Read More »

ज्ञानपिपासु

ज्ञानपिपासु एक गुरु के दो शिष्य थे। एक पढ़ाई में बहुत तेज और विद्वान था और दूसरा फिसड्डी।

Read More »