Sshree Astro Vastu

रात के बासी आटे की रोटी क्यों नहीं खाना चाहिए

पितृपक्ष में जब हम अपने पितरों का श्राद्ध करते हैं , तो उसमे पिंडदान की क्रिया करना आवश्यक होता है।

 

पिंडदान में हम गोलाकार पिंड बनाते हैं

जिसमें पितरों का वास होता है।

 

जब हम बचा हुआ आटा गोल आकार में रखते हैं, तो उसमें प्रेत आत्मा का वास हो सकता है।

इसलिये आटे को रखने से पहले उस पर उंगलियों के निशान बना दें ताकि उसमें किसी का वास न हो सके।

आप सभी लोगों से निवेदन है कि हमारी पोस्ट अधिक से अधिक शेयर करें जिससे अधिक से अधिक लोगों को पोस्ट पढ़कर फायदा मिले |
Share This Article
×