Sshree Astro Vastu

आईएएस, आईपीएस सिविल सर्विस आदि नौकरी प्राप्त करना चाहते है क्या वह् मिल पाएगी

आईएएस, आईपीएस, पुलिस, बैंक, राजनीती जुड़े क्षेत्र लोकसभा में, सिविल सर्विस आदि कई तरह की नौकरीया प्राप्त करने के लिए हम प्रयास करते है जिसके लिए बार बार परीक्षाएं देते है जिससे नौकरी मनमुताबिक मिल सके।आज इसी विषय पर बात करते है जिस भी पोस्ट की नौकरी प्राप्त करना चाहते है क्या वह् मिल पाएगी उसमे सलेक्शन हो पायेगा आदि।।                                                                                   

कुंडली का दसवाँ भाव और इसका स्वामी सबसे ज्यादा जरूरी होता है नौकरी में सलेक्शन के लिए साथ ही जिस क्षेत्र की या पद की नौकरी प्राप्त करना चाहते है उसका(कुंडली के उस भाव का सबन्ध) सम्बन्ध बलवान दसवे भाव या दसवे भाव स्वामी से होगा तब नौकरी में सलेक्शन जरूर हो जायेगा मतलब जिस भी नौकरी प्राप्ति के लिए प्रयास किया जा रहा है उस क्षेत्र में सफलता इंटरव्यू देने, परीक्षा देने में मिल जायेगी साथ ही उन ग्रहो का सहयोग भी हो जिस ग्रह या ग्रहो से जो नौकरी में सलेक्शन चाहिए उन ग्रहो का सबंध दसवे भाव से होना अनिवार्य है।

 

अब लेकिन यदि दसवाँ भाव पीड़ित है है, अशुभ है या योग नही है अमुक नौकरी सलेक्शन के या कमजोर स्थिति है तब सलेक्शन नौकरी में होते रुकेगा ऐसी स्थिति में योग है तब नौकरी सम्बन्धी ग्रहो के उपाय करके नौकरी में सलेक्शन हो जायेगा और मनोनुकूल नौकरी प्राप्ति हो जायेगी।

 

अब कुछ उदाहरणों से समझते है कब नौकरी में सलेक्शन हो पायेगा और कैसा नौकरी का भविष्य(फ्यूचर)रहेगा।                                                                      

 

उदाहरण_अनुसार1:-

मिथुन लग्न कुण्डली में दसवे भाव का स्वामी गुरु बनता है अब गुरु यहाँ तीसरे भाव स्वामी सूर्य और मंगल के साथ हो तब आईपीएस , आईपीएस जैसी नौकरी में सलेक्शन हो जायेगा यही यही चौथे भाव स्वामी बुध भी साथ सम्बन्ध में हो तब आईएएस ,आईएएस जैसी नौकरी में सलेक्शन हो जायेगा और अच्छी सफलत मिलेगी।                                             

 

उदाहरण_अनुसार2:-

 तुला लग्न कुंडली में दसवे भाव स्वामी चन्द्र होता है अब चन्द्र यहाँ द्वितीयेश मंगल के साथ बैठा हो तब यहाँ नौकरी में सलेक्शन बैंक या फाइनेंस आदि जैसी में जरूर हो जायेगा।

उदाहरण_अनुसार3:-

 

 धनु लग्न में दसवे भाव का स्वामी बुध बनता है अब बुध यहाँ अकेला दसवे भाव में ही बैठा हो किसी ग्रह से शुभ सबन्ध में न हो तब मनचाही नौकरी प्राप्ति में सलेक्शन नही हो पायेगा, लेकिन जबकि बुध को यहाँ भाग्येश सूर्य, पंचमेश मंगल लग्नेश गुरु का पूर्ण सम्बन्ध बनेगा तब किसी भी नौकरी में अच्छे से सलेक्शन होकर सफलता मिल जायेगी, लेकिन ऐसी स्थिति में यह ग्रह पीड़ित और अस्त अशुभ न हो।।                                                                                           

 

इस तरह से दसवे भाव ,दसवे भाव स्वामी की अच्छी स्थिति जातक/जातिका को बढ़िया स्तर पर सलेक्शन कराकर सफलता दिला देगी, सफलत सलेक्शन में जब समय नौकरी सम्बन्धी ग्रहो का अनेकुल चलेगा तब ही होगा।इस तरह से जो सलेक्शन तब ही होगा जब जिस नौकरी के सलेक्शन के लिए प्रयास किया जा रहा है उसक्षेत्र में सफलता के योग हो।

आप सभी लोगों से निवेदन है कि हमारी पोस्ट अधिक से अधिक शेयर करें जिससे अधिक से अधिक लोगों को पोस्ट पढ़कर फायदा मिले |
Share This Article
×